Tuesday, 17 December 2013

आलू सब्जियों का राजा तो मिर्ची सब्जी की रानी

आलू सब्जियों का राजा,
तो मिर्ची सब्जी की रानी ।
गोभी,बैगन की बात ही क्या,
पर टमाटर का ना कोई शानी ॥

पालक,मेथी,चौराई,
और हरा साग सबको भाता ।
चाहे जैसा सब्जी हो,
पर सबका धनिया स्वाद बढ़ाता ॥

मूली,शलजम,गाजर,अदरक,
प्याज व लहसुन किसी से कम है नही ।
चिचिन्धा,परवल,लौकी,तोरई,
पर कटहल,सूरन मे भ्रम हो नही ॥

मशरुम,चुकन्दर व कुनुरु,
शिमला मिर्च भी मन को भाये ।
हरा मटर व चना की सब्जी,
प्यार से सब कोई खाये ॥

सब्जियां होती कई तरह की,
पर बिधि पुर्वक इन्हें बनाया जाए ।
फिर खाने के बाद इन्हे,
पेट पे हाथ फिराया जाए ॥

फिर खाने के बाद इन्हे,
पेट पे हाथ फिराया जाए ॥

मोहन श्रीवास्तव (कवि)
www.kavyapushpanjali.blogspot.com
दिनांक-०२-०६-२०१३,रविवार,
शाम-७ बजे,
पुणे,महाराष्ट्र






Post a Comment