Saturday, 11 January 2014

दिल्ली की सत्ता मुश्किल से मिली

भ्रष्टाचार से आहत भारत की जनता,
जो महंगाई की आग मे जल है रही
इन्हीं सब से परेशान हो आज,
ये "आप" पार्टी की तरफ बढ़ है रही

आप पार्टी का सिद्धांत,
सोच बहुत ही अच्छा है
अभी तक तो ये ईमानदार हैं,
पर आगे किसने देखा है

ईमानदारी पारदर्शिता,
इनसे और पार्टियों को सीखना है
यदि हम अच्छे तो सब अच्छा,
ये हम सब मे भी दिखना है

राजनीति की पहली पढ़ाई,
आप पार्टी ने है अपनाया
इनके लिये जो भ्रष्टाचारी हैं,
उन्हें हस के गले लगाया

लंगड़ी बैशाखी के सहारे,
दिल्ली की सत्ता मुश्किल से मिली
जहां सत्ता के सुख को पाकर,
इन सबकी तो बाहें है खिली

अभी दिल्ली की गद्दी मिली आप को,
पहले कुछ काम तो करके दिखलावो
फिर देश ही नहीं दुनिया में भी,
अपना परचम लहरावो

इतिहास गवाह रहा है सदा,
जल्दबाजी काम मे ठीक नही
अभी तो लगता सब हरा-भरा,
पर बाद मे मिलती सुखी भी नहीं
अभी तो लगता सब हरा-भरा,
पर बाद मे मिलती सुखी भी नहीं....

मोहन श्रीवास्तव (कवि)
www.kavyapushpanjali.blogspot.com
11-01-2014,Saturday,02:30PM,(826),
Pune,M.H.




Post a Comment