Wednesday, 12 February 2014

किसी के पोस्ट की चोरी नहीं करें

चोर सदा से रहे हैं इस धरा पे,
और आगे भविष्य मे रहेंगे भी
अपनी आदत से मजबूर जो मित्रों,
वे तो चोरी करेंगे ही

सोना,चांदी,रुपया,कपड़ा,
या दुनिया मे जितने चीज भी हैं
चोरी तो सबकी होती है,
चाहे दिल में बसी कोई प्रीति ही है

किसी के पोस्ट को चोरी करना,
ये बहुत ही घिनौना कार्य है
ऐसे बहुत पोस्ट हैं मिल जाते,
जिसके कई प्रमाण हैं

ऐसी ही चोरी मे कविता चोरी,
और लेखन चोरी भी होता है
वे तो खुश होते हैं अपने नाम को लिखकर,
पर कवि बेचारा रोता है

बहुत बड़ी मुश्किल से मित्रों,
कोई रचना या लेख लिखे जाते
दिल मे बहुत अरमान लिये,
ये किसी भी मंच पे प्रस्तुत किये जाते

मेरा विनम्र निवेदन है उन मित्रों से,
किसी के पोस्ट की चोरी नही करें
सत्य तो सदा सत्य ही रहता है,
पर उपर वाले से सदा डरें
सत्य तो सदा सत्य ही रहता है,
पर उपर वाले से सदा डरें....

मोहन श्रीवास्तव (कवि)
12-02-2014,Wednesday,02:00pm,(853)

Pune,M.H.


Post a Comment