Sunday, 13 July 2014

नरेंद्र मोदी जैसे महापुरुष का

जब जब धर्म की  हुई हानि ,
और सत्य  पे कभी प्रहार  हुआ  । 
तब तब नरेंद्र मोदी  जैसे महापुरुष  का ,
इस  धरा पे  है अवतार  हुआ ॥ 

हर आँखों  में दहशत थी भरी  हुई ,
और सब के दिल में  निराशा  थी  । 
चारों  ओर  आरजकता  थी ,
और  जीने  की नही  आशा  थी  ॥ 

जाति धर्म के नाम  पे ,
वे आपस  में  हमको  थे  बांट  रहे  । 
साम्प्रदायिकता  का  भय  दिखलाकर ,
वे माखन -मिश्री  थे चाट  रहे ॥ 

ऐसे कठिन समय में नरेंद्र  मोदी जी ,
जो आशा की किरण बन कर आये । 
घनघोर -अंधियारी  काली रात  में ,
वे नया सबेरा  लेकर आये ॥ 

जीने  की आश जगी सब में ,
और हर हिन्दुस्तानी  गर्व से मुस्का है रहा ।
 आएँगे  अच्छे  दिन अपने ,
और तिरंगा  शान  से लहरा  है रहा ॥

शासन काम और सुशासन जादा ,
ये मोदी जी की अलग पहचान है ।
भारत के सुनहरे भविष्य के लिए ,
उनके दिल में बहुत अरमान है ॥ 

सबका साथ -सबका  का विकास,
ये नरेंद्र भाई का वादा है ।
दुनिया में भारत का नाम बढ़े ,
ये उनका अटल ईरादा है॥ 

आओ हम सब भारत वासी ,
उनके हाथों को मजबूत करें । 
आपसी मतभेद भुलाकर के ,
हम भारत को भय से मुक्त करें ॥ 
आपसी मतभेद भुलाकर के ,
हम भारत को भय से मुक्त करें,,,,,,,


मोहन श्रीवास्तव (कवि)
mobile no... 9009791406 
21. 05. 2014 ,wednsday,5 pm  (866)
jhalap ,mahasamund (chattisgarh ) 


Post a Comment