Monday, 19 November 2018

"राम जी का नाम लेके"गीतिका छंद ( SISS SISS SISS SIS )


"राम जी का नाम लेके"
गीतिका छंद ( SISS  SISS   SISS SIS )


राम जी का नाम लेके , काम सारे कीजिये | 
जागते सोते सदा ही , नाम प्यारे लीजिये || 
राम ही  प्यारे सभी को ,राम ही हैं  तारते  | 
राम ही हैं प्राण देते ,    राम ही संहारते     || 

राम छंदातीत हैं तो ,    राम प्यारे मीत हैं  |  
राम कालातीत हैं तो ,    राम मेरे  गीत हैं || 
राम ही सारा जहाँ हैं ,  राम ही ब्रह्माण्ड हैं | 
राम ही दाता विधाता ,    वो सवेरे चाँद हैं || 

राम जी का काम ही है ,प्राणियों को तारना | 
हार के भी जीत देते ,   ये सदा ही मानना  || 
हो धनी या हो भिखारी  , रंक राजा और हो | 
राम की पाते कृपा ही  ,  या कसाई चोर हो || 

राम को जो जान लेते ,    दास हैं वो राम के  | 
काटते बाधा सभी के  ,    आसरे जो राम के  || 
राम जी संसार के हैं ,      बाप सारे जानिये   | 
ध्यान सेवा राम का हो , राम को ही मानिये ||

राम जी का नाम लेके , काम सारे कीजिये | 
जागते सोते सदा ही , नाम प्यारे लीजिये || 


कवि  मोहन श्रीवास्तव 
रचना क्रमांक :- (११२५ ) 


Post a Comment