Thursday, 26 December 2013

"मेरे आने की खबर पाके मचलती होंगी"


 मेरे आने की खबर पाके,मचलती होंगी |
बड़ी बेचैनी से आंगन में, टहलती होंगी ||
 मेरे आने की खबर पाके..............

सुहाने सपने सजा, जुल्फें बना,बेंदी लगा |
उनकी उम्मीदें न पल भर, को बहलती होंगी ||
मेरे आने की खबर पाके..............

मेरी दस्तक की आहट में, लगें कानो की |
सौ दफे फीकी सी ,मुस्कान बदलती होंगी ||
मेरे आने की खबर पाके..............

कभी झरोखे से ,तकने से,रहगुजारों में |
इन्तिजारी की नही, बर्फ पिघलती होगी ||
मेरे आने की खबर पाके..............

आँखों से उनके जज्बात, छलकते होंगे |
बेखयाली में तेज, धडकनें चलती होंगी ||

  मेरे आने की खबर पाके,मचलती होंगी |
बड़ी बेचैनी से आंगन में टहलती होंगी ||
 मेरे आने की खबर पाके..............


मोहन श्रीवास्तव (कवि)
www.kavyapushpanjali.blogspot.com
11-09-2013,wednesday,8pm,756),
in pune-hatiya expess,train.



Post a Comment